शहडोल: बिलासपुर-कटनी रेल मार्ग पर रेल लाइन के विद्युतीकरण के काम में लगे रेल अधिकारी योगेंद्र सिंह भाटिया की एक ट्रेन से टकराने के कारण मौत हो गई. हादसे की जानकारी मौके पर मौजूद कर्मचारियों को उस वक्त लगी, जब ट्रेन मौके से गुजर गई. गंभीर रूप से घायल हुए क्षेत्रीय प्रबंधक योगेंद्र सिंह भाटी को धनपुरी सेंट्रल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरो ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस घटना को लेकर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने इस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है। सीएम ने किया ट्वीट
इस हादसे पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री बघेल ने 2018 बैच के भारतीय रेलवे सेवा के अधिकारी भाटिया के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है. बघेल ने उनके शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी शोक संवेदना प्रकट की है.

काम के दौरान गई जान
बताया गया है कि अमलाई रेलवे लाइन पर तीसरी लाइन के विद्युतीकरण का काम चल रहा था. इस काम में भाटिया गुरुवार की रात को लगे हुए थे. इसी दौरान कटनी से बिलासपुर की ओर जाने वाली मेमो ट्रेन आ गई और भाटिया उससे टकरा गए. इस हादसे में उनकी मौत हो गई।

क्षेत्रीय प्रबंधक के पद पर थे
बता दें कि भाटिया दक्षिण-पूर्व-मध्य रेलवे के बिलासपुर डिवीजन में बैकुंठपुर में पदस्थ क्षेत्रीय प्रबंधक के पद पर पदस्थ थे, वर्तमान में उनके पास शहडोल का अतिरिक्त प्रभार था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here