बाराबंकी: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में लखनऊ-गोरखपुर रेलखंड पर ट्रेन चालकों का एक नया कारनामा समाने आया है। यहां दो ट्रेन के ड्राइवर 12 घंटे ड्यूटी टाइम पूरा होने पर रेलवे ट्रैक पर रेलगाड़ी खड़ी छोड़ कर चले गए। इसके चलते सहरसा से दिल्ली जाने वाली ट्रेन 3 घंटे 40 मिनट और बरौनी से लखनऊ जा रही ट्रेन 1 घंटा 41 मिनट तक बुढ़वल स्टेशन पर खड़ी रही। इस दौरान स्टेशन अधीक्षक ने यात्रियों की समस्या पर फोन उठाना बंद कर दिया। यात्रियों के जोरदार हंगामे पर रेलवे विभाग ने आनन-फानन ड्यूटी के दूसरे चालकों को लखनऊ से बुढ़वल लाया गया, जिसके बाद ट्रेनों को आगे के लिए रवाना किया गया। जानकारी के अनुसार, लखनऊ-गोरखपुर रेलखंड के बुढ़वल रेलवे स्टेशन से गुजर रही दो एक्सप्रेस ट्रेनों के चालक और गार्डों ने ट्रेन आगे ले जाने से मना कर दिया। उन्होंने ट्रेन ये कह छोड़ दिया कि उनकी ड्यूटी टाइम के 12 घंटे बीत चुके हैं। इस बीच ट्रेनों पर सवार यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। इससे आरपीएफ, जीआरपी, स्थानीय पुलिस और स्टेशन अधीक्षक और स्टाॅफ पूरी तरह से मुकदर्शक बने रहें।

ट्रेन छोड़ कर भाग गए ड्राइवर और गार्ड
एनईआर के गोंडा आरपीएफ के इंस्पेक्टर अजमेर सिंह यादव ने बताया कि सहरसा बिहार से चलकर नई दिल्ली जा रही ट्रेन के बुधवार दोपहर 1:15 पर बुढ़वल स्टेशन पर पहुंची थी। इसके चालक और गार्ड ने ट्रेन को प्लेटफार्म नंबर तीन और चार के बीच खड़ा कर दिया। इस पर यात्रियों ने हंगामा शुरु कर दिया। इस ट्रेन के चालक और गार्ड का कहना था कि उनकी 12 घंटे की ड्यूटी है और यह अवधि पूरी हो चुकी है। इसपर नियंत्रण कक्ष लखनऊ को हालात बताए गए। इस पर इस ट्रेन के चालक और गार्ड लखनऊ से बुढ़वल लाए गए। सहरसा से नई दिल्ली के लिए 4:50 बजे लेकर रवाना हुए। इस तरह से यह ट्रेन 3 घंटे 40 मिनट तक रेलवे स्टेशन पर ही खड़ी रही।

दूसरी ट्रेन के ड्राइवर-गार्ड की यही कहानी
इसी स्टेशन पर बरौनी से लखनऊ जा रही एक्सप्रेस ट्रेन के चालक और गार्ड ने भी यहीं कहानी दोहरा दी। इन दोनों ने भी स्टेशन अधीक्षक को बताया कि उनकी 12 घंटे की ड्यूटी पूरी हो चुकी है। वह अब आगे ट्रेन को लेकर नहीं जा सकते हैं। यह ट्रेन शाम 4:04 बजे यहां पर पहुंची थी। इस ट्रेन के दूसरे चालक और गार्ड को लखनऊ से बुलाया गया। इसके बाद 5:46 पर आगे के लिए रवाना किया गया। इन हालातों में यह ट्रेन 1 घंटा 41 मिनट तक बुढ़वल स्टेशन पर खड़ी रही। बुढ़वल स्टेशन के जीआरपी इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह ने बताया कि सहरसा से दिल्ली जा रही नान स्टॉप ट्रेन के ड्राइवर 12 घंटे ड्यूटी समय पूरा होने पर छोड़ कर चले गए। वहीं शाम 4 बजे बरौनी से लखनऊ जा रही बरौनी एक्सप्रेस ट्रेन भी खड़ी हो गई थी। इस ट्रेन के ड्राइवर और गार्ड ने ड्यूटी पूरी होना बात कर ट्रेन छोड़ कर चले गए थे। गाड़ी के लेट होने पर यात्रियों ने करीब 20 मिनट हांगमा किया था, जिनको समझा बुझा कर शांत कराया गया। कंट्रोल चेंज होने के बाद ये ट्रेन भी रवाना हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here