हिंद स्वराष्ट्र : 8 मार्च- एक ऐसी तारीख़ जब देश से लेकर विदेश तक नारी शक्ति की गूँज होती है. जहाँ एक ओर इस दिन नारी शक्ति के ऐतिहासिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक उपलब्धियों का जश्न मनाया जाता है, तो वहीं दूसरी ओर उनके हक़ की बात भी की जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि आख़िर इस दिन की शुरुआत कैसे हुई थी? क्या है इस दिन के पीछे की कहानी? और क्या है इस दिन का महत्व? महिलाओं को समर्पित इस आर्टिकल में हम इन्हीं सभी बिंदुओं पर बात करेंगे!

8 मार्च की कहानी
तो चलिए सबसे पहले आपको बताते हैं कि आख़िर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाने की शुरुआत कैसे हुई! दरअसल, इस दिन को ख़ास बनाने की पहल आज से 115 साल पहले यानी कि वर्ष 1908 में हुई थी. इस दिन तकरीबन 15000 महिलाओं ने न्यूयॉर्क शहर में अपने अधिकारों के हक़ में एक परेड निकाली थी, जिसमें काम के घंटों, वेतन और वोट डालने जैसी बुनियादी बातों का ज़िक्र शामिल था.
महज एक साल के बाद ही अमेरिका की सोशलिस्ट पार्टी ने पहला राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का एलान किया. हालाँकि, इस दिन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मनाने का सुझाव एक वामपंथी कार्यकर्ता क्लारा ज़ेटकिन ने 1910 में डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगेन में कामकाजी महिलाओं के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में दिया था. क्लारा हमेशा महिलाओं के हक़ के लिए लड़ती थीं.

पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस कब मनाया गया था?
क्लारा ज़ेटकिन के सुझाव के एक साल बाद पहला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 1911 में ऑस्ट्रिया, जर्मनी , डेनमार्क, और स्विटज़रलैंड में मनाया गया. हालाँकि, इस दिन को औपचारिक मान्यता 1975 में उस समय मिली, जब संयुक्त राष्ट्र ने भी ये जश्न मनाना शुरू कर दिया.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से जुड़ी 5 दिलचस्प बातें
1.संयुक्त राष्ट्र हर साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम तय करता है. वर्ष 1975 में इस दिन की पहली पहली थीम ‘गुज़रे हुए वक़्त का जश्न और भविष्य की योजना बनाना’ निर्धारित की गई थी. इस साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की थीम ‘डिजिटऑल: लैंगिक समानता के लिए नवाचार और प्रौद्योगिकी है.
2.अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की वेबसाइट के अनुसार इस दिन के लिए जामुनी, हरा और सफ़ेद रंग निर्धारित किए गए हैं. जिसमें जामुनी रंग न्याय और गरिमा का प्रतीक है, हरा रंग आशा और सफ़ेद रंग शुद्धता को दर्शाता है.
3.अमेरिका में पूरा मार्च का महीना महिलाओं को समर्पित किया जाता है, जिसे Women’s History Month कहा जाता है.
4.सर्बिया, अल्बानिया, मैसेडोनिया और उज्बेकिस्तान जैसे देशों में महिला दिवस के साथ मदर डे भी मनाया जाता है.
5.इस दिन अफ़ग़ानिस्तान, वियतनाम, मंगोलिया, जॉर्जिया, यूगांडा, लाओस, कंबोडिया, जर्मनी, क्यूबा, बेलारूस, मोंटेनेग्रो, रूस और यूक्रेन जैसे देशों में आधिकारिक अवकाश होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here